मेरा सफ़र.  –  अली सरदार जाफ़री

मेरा सफ़र. – अली सरदार जाफ़री

हमचू सब्ज़ा बारहा रोईदा-ईम (हम हरियाली की तरह बार-बार उगे हैं) रूमी … फिर इक दिन ऐसा आएगा आँखों के … Continue reading मेरा सफ़र. – अली सरदार जाफ़री

ज़िन्दगी से उन्स है – साहिर लुधियानवी

ज़िन्दगी से उन्स है – साहिर लुधियानवी

ज़िन्दगी से उन्स है     उन्स- प्रेम हुस्न से लगाव है धड़कनों में आज भी इश्क़ का अलाव है … Continue reading ज़िन्दगी से उन्स है – साहिर लुधियानवी

चिराग़ जलते हैं –  सूर्यभानु गुप्त

चिराग़ जलते हैं – सूर्यभानु गुप्त

जिनके अंदर चिराग़ जलते हैं, घर से बाहर वही निकलते हैं। बर्फ़ गिरती है जिन इलाकों में, धूप के कारोबार … Continue reading चिराग़ जलते हैं – सूर्यभानु गुप्त

दिल के काबे में नमाज़ पढ़ – नीरज

दिल के काबे में नमाज़ पढ़ दिल के काबे में नमाज़ पढ़, यहां-वहां भरमाना छोड़। सांस-सांस तेरी अज़ान है, सुबह … Continue reading दिल के काबे में नमाज़ पढ़ – नीरज

मराठी गज़ल

मराठी गज़ल

मराठी गज़ल तुझ्या समोर मला गझल गायचा आहे, गिळून घोट कडू, चंद्र घायचा आहे. विकून दर्द ईथे दाद ध्यायची असते, … Continue reading मराठी गज़ल