इक सबसे छोटी लव-स्टोरी! – नेहल

  अब तक सब कुछ याद है! सफेद कुर्ते पर नीला पश्मीना ओढे तुमने जब खिडकी से बरामदे में झाँका  था तुम्हारी नज़र से बतीयाने में मेरी गोटेवाली जूती सरक गई! हवा में अपनी उडान रोक परांदे थम से गए, तो चोटियाँ गुस्से से आके लिपट गई । फूलकारी दुपट्टा संभालने में कंगना और झुमके में…

Read More