गज़ल – क़तील शिफ़ाई

गज़ल – क़तील शिफ़ाई

अपने होंटों पर सजाना चाहता हूँ आ तुझे मैं गुनगुनाना चाहता हूँ कोई आँसू तेरे दामन पर गिरा कर बूँद … Continue reading गज़ल – क़तील शिफ़ाई