ग़ज़ल : मोहसिन नक़वी

ग़ज़ल : मोहसिन नक़वी

नया है शहर नए आसरे तलाश करूँ तू खो गया है कहाँ अब तुझे तलाश करूँ जो दश्त में भी … Continue reading ग़ज़ल : मोहसिन नक़वी